साइनस की समस्या के घरेलू उपचार | Home remedies for sinus problem in hindi

साइनसाइटिस (साइनस संक्रमण) | Sinusitis (sinus infection)

साइनसाइटिस साइनस (नाक )की सूजन है, जो आमतौर पर एक संक्रमण के कारण होता है। यह आम है और आमतौर पर 2 से 3 सप्ताह के भीतर अपने आप साफ हो जाता है। इस समस्या से बचने के लिए आपको कुछ कदम उठाने चाहिए ताकि आप इस बीमारी के लक्षणों से राहत पा सकें। कुछ घरेलू उपचार हैं जो साइनस के लक्षणों को कम करने में आपकी मदद कर सकते हैं।अगर इसे दूर होने में लंबा समय लग रहा हो।

साइनसाइटिस (साइनस) के लक्षणों में शामिल हैं | Symptoms of sinusitis include

जांचें कि क्या आपको साइनसाइटिस है। सर्दी या फ्लू के बाद साइनसाइटिस आम है।

  • दर्द, सूजन और आपके गाल, आंखों या माथे के आसपास कोमलता
  • एक अवरुद्ध नाक
  • गंध की कम भावना
  • आपकी नाक से हरे या पीले रंग का बलगम
  • एक साइनस सिरदर्द
  • उच्च तापमान
  • दांत दर्द
  • सांसों की बदबू
  • छोटे बच्चों में साइनसाइटिस के लक्षण चिड़चिड़ापन, दूध पिलाने में कठिनाई और उनके मुंह से सांस लेने में भी शामिल हो सकते हैं।

साइनस की समस्या के घरेलू उपचार | Home remedies for sinus problem in hindi

सेब का सिरका नाक के दर्द जैसे साइनसाइटिस के लक्षणों के उपचार में काफी फायदेमंद होता है। आप एक गिलास गर्म पानी में दो चम्मच सेब के सिरके को मिलाकर दिन में 2-3 बार ले सकते हैं। (read-सर्दियों में क्या खाएं )

तिल का तेल साइनसाइटिस के उपचार में बहुत प्रभावी है।  इसके लिए आपको अपनी नाक गुहाओं में तिल के तेल की 2-4 बूंदें डालें। यह आपको बंद नाक खोलने और साइनस को कम करने में मदद करेगा। (read-तिल के बीज के फायदे )

अदरक साइनस के घरेलु उपचार के रूप में इस्तिमाल की जाती है। यह साइनस के कारण होने वाली सूजन को कम करता है। आप अदरक को पानी में उबालकर 15 मिनट तक पी सकते हैं। इस पानी को छान लें और इसमें शहद मिलाएं। इसका एक कप प्रतिदिन पिएं। यह अदरक का पानी समग्र चयापचय (overall metabolism) के लिए भी लाभकारी होता है।

तुलसी के पत्ते में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण होते हैं और इसलिए साइनस संक्रमण का कारण बनने वाले रोगाणुओं को नष्ट करने में काम करते हैं। तुलसी साइनस सूजन को कम करके बन्द नाक को साफ करता है। आप पानी में उबालकर तुलसी के पत्ते का काढ़ा तैयार कर सकते हैं। काढ़े को छानकर इसका सेवन करें। (read- जानिए तुलसी के यह 5 प्रकार और लाभ )

प्याज नाक के बन्द मार्ग को साफ करने में मदद करता है। यह साइनस संक्रमण का कारण बनने वाले बैक्टीरिया को नष्ट करने में भी मदद करता है। एक प्याज काट लें और इसे उबलते पानी में 10 मिनट तक उबालें और इसके बाद आप इसे अपने सिर को तौलिए से ढक कर भाप लें। बहुत कारगर उपाय है ये।

दालचीनी का इस्तिमाल मसाले के रूप में किया जाता है और यह सूजन के इलाज में भी लाभकारी होता है। आप दिन में एक चौथाई चम्मच दालचीनी पाउडर और शहद को गुनगुने पानी में मिलाकर सेवन कर सकते हैं।

टमाटर में विटामिन ए की भरपूर मात्रा होती है। और साइनस की सूजन को कम करने में मदद करता है। यह बलगम की परत को पतला करके नाक के अवरोध को कम करने में मदद करते हैं। आप टमाटर के रस में एक चम्मच नींबू और नमक डालकर उबालें। इसे कुछ देर ठंडा करके पिएं।

गर्म पेय पदार्थ -अगर आपको साइनस की समस्या है, तो एक गर्म पानी पिएं। गर्म पानी पीने से बंद नाक खुल जाती है। ध्यान रखें कि साइनस की समस्या में गलती से भी अल्कोहल न पिएं।

सब्जियों का रस– साइनस संक्रमण के लिए सब्जियों का उपयोग सबसे अच्छा घरेलू उपचार में से एक है। अगर आप रोजाना गाजर का रस, चुकंदर का रस, पालक का रस और खीरे का रस पीते हैं, तो आपको साइनस की समस्या से जल्द ही फायदा मिलेगा। गाजर के रस में कमाल के हीलिंग गुण होते हैं जो साइनस के इलाज में भी फायदेमंद है।

पर्याप्त आराम करें – साइनस की समस्या से जल्दी राहत पाने के लिए व्यक्ति को अधिक से अधिक आराम करना चाहिए। लगातार लंबे समय तक काम करने से साइनस की समस्या बढ़ती है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *