Ferrous Sulphate and Folic Acid tablets: फायदे और साइड इफेक्ट्स

Ferrous Sulphate and Folic Acid tablets की जानकारी

Ferrous Sulfate and Folic Acid टैबलेट एक लोहे (iron) के पूरक है। इसका खासतौर से शरीर में आयरन की कमी के उपचार के लिए इस्तेमाल की जाती है। जिसका उपयोग लोहे के निम्न रक्त स्तर (जैसे एनीमिया या गर्भावस्था के दौरान) के रक्त के स्तर को बढ़ाने के लिए किया जाता है।

फेरस सल्फेट और फोलिक एसिड टेबलेट सेवन करने पर कब्ज, दस्त या पेट खराब हो सकता है। ये प्रभाव आमतौर पर अस्थायी होते हैं और गायब हो सकते हैं क्योंकि आपका शरीर इस दवा में समायोजित (adjusts) हो जाता है। और भी साइड इफेक्ट्स हो सकते है जो निचे सूची में हैं।

Ferrous Sulphate + Folic Acid tablets की सामग्री | Ingredients of Ferrous Sulphate + Folic Acid tablets in Hindi

  1. Ferrous Sulphate
  2. Folic Acid

Ferrous Sulphate + Folic Acid tablets के फायदे | Benefits of Ferrous Sulphate + Folic Acid tablets in Hindi

Ferrous Sulphate Folic Acid का प्रयोग निम्नलिखित बीमारियों, स्थितियों और लक्षणों के उपचार, नियंत्रण, रोकथाम और सुधार के लिए किया जाता है:

  • एनीमिया के लिए
  • गर्भावस्था के दौरान
  • फोलिक एसिड की कमी के कारण मेगालोब्लास्टिक एनीमिया का उपचार
  • आयरन की कमी के कारण होने वाली एनीमिया

Ferrous Sulphate + Folic Acid tablets की खुराक और उपयोग | Ferrous Sulphate + Folic Acid tablets DOSAGE and uses in Hindi

आमतौर पर दिन में एक बार 1 टैबलेट या अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

यह दवा भोजन के 1 घंटे पहले या 2 घंटे बाद खाली पेट लिया जाता है। यदि पेट खराब होता है, तो आप इस दवा को भोजन के साथ ले सकते हैं। इस दवा के पहले या बाद में 2 घंटे के भीतर एंटासिड, डेयरी उत्पाद, चाय, या कॉफी लेने से बचें क्योंकि वे इसकी प्रभावशीलता को कम कर देंगे।

Ferrous Sulphate + Folic Acid tablets के नुकसान | Ferrous Sulphate + Folic Acid side effects in Hindi

फेरस सल्फेट और फोलिक एसिड टेबलेट का उपयोग नियमित रूप से करें ताकि इसका अच्छे से फायदा मिल सके। इसे हर दिन एक ही समय पर लें।

  • उलटी या मितली
  • पेट में ऐंठन
  • पैरो की सूजन
  • कब्ज
  • दस्त, पेट खराब
  • सांस लेने में कठिनाई
  • खुजली या जलन
  • त्वचा का लाल होना
  • भ्रम की स्थिति
  • अनिद्रा
  • दौरे (अंगों के बेकाबू मोड़)
  • एलर्जी

यदि इनमें से कोई भी प्रभाव लगातार बना रहता है या बिगड़ जाता है, तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से तुरंत संपर्क करें।

आयरन के कारण आपका मल काला हो सकता है, जो हानिकारक नहीं है।

सावधानीयां

गर्भावस्था के दौरान, इस दवा का उपयोग केवल तब किया जाना चाहिए जब आवश्यक हो। अपने डॉक्टर की सलाह पर ही लें।

इस दवा को लेने से पहले, अपने डॉक्टर को अपना मेडिकल इतिहास बताएं, आंतों की समस्याओं (जैसे, अल्सर, कोलाइटिस)

पर्निसियस एनीमिया

गुर्दे की बीमारी (read-किडनी की समस्या घरेलू उपचार )

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.