Home » all posts » चिया बीज के फायदे, उपयोग और नुकसान | Chia Seeds Benefits, uses and Side Effects in Hindi

चिया बीज के फायदे, उपयोग और नुकसान | Chia Seeds Benefits, uses and Side Effects in Hindi

चिया बीज क्या है | What is chia seed in hindi

साल्विया हिस्पानिका (Salvia Hispanica) या चिया पौधे के बीज को स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। इसके बीज अंडाकार होते हैं और इन्हें चिया के बीज कहते है। मध्य अमेरिका में पाए जाते हैं। यह प्राकृतिक अनाज की श्रेणी में आता है। यह देखने में जितने छोटे होते हैं। लेकिन इनके गुण उतने ही बड़े होते हैं। ये छोटे दिखने वाले चिया बीज ऊर्जा से भरपूर हैं। यहां तक कि इसका नाम उस प्राचीन मायन शब्द से लिया गया है जिसका अर्थ शक्ति और ताकत है।

chia seed

चिया के बीज फाइबर, एंटीऑक्सीडेंट, मिनरल्स (कैल्शियम, लोहा, पोटेशियम, जस्ता, तांबा, मैंगनीज, मैग्नीशियम, फास्फोरस, सोडियम), लगभग वसा 40%; प्रोटीन 20%, ओमेगा -3 और ओमेगा -6 फैटी एसिड, विटामिन ( B 1, B 2 ,B 3 , और विटामिन K , विटामिन PP , विटामिन A ) आदि प्रचुर मात्रा में पाए जाते है। तभी इसे सुपरफूड भी कहा जाता है। चिया के बीज को हिंदी में (सब्जा) नाम से जानते है। चिया के बीज शरीर को पोषण प्रदान करने से साथ-साथ कई बीमारियों से लड़ने में भी मदद करते हैं। जैसे – पाचन संबंधी बीमारियों, हृदय रोगों और उच्च रक्तचाप आदि।

चिया के बीज के फायदे | Chia seeds in hindi benefits

चिया बीज वजन कम करने में फायदेमंद | Chia seeds beneficial to lose weight in Hindi

चिया बीज में अच्छी मात्रा में फाइबर होता है। वजन कम करने के लिए अपने आहार में फाइबर का होना बहुत जरूरी है। फाइबर को पचने में लंबा समय लगता है, चिया बीज में मौजूद फाइबर आपको लंबे समय तक भूख का एहसास नहीं होने देता है। जिससे वजन कम करने में मदद मिलती है।

कई अध्ययनों पता चला है। कि नाश्ते में चिया बीज को शामिल करने से पेट लंबे समय तक भरा रहता है। जिसके कारण आप बार-बार खाना नहीं खाते हैं, जिससे पेट में बेकार चर्बी जमा नहीं होती है। चर्बी जमा होने से वजन बढ़ने लगता है। वजन कम करने के लिए कुछ समय पानी में चिया बीज को भीगो कर रखदे। और फिर पानी का सेवन करें। आप इसमें स्वाद के लिए नींबू या संतरे का रस मिला सकते हैं।

कब्ज में लाभकारी चिया बीज | Chia seeds beneficial in constipation in hindi

चिया बीज में अघुलनशील फाइबर की अच्छी मात्रा होती है। जब चिया बीज पानी के संपर्क में आता है, तो यह एक जेल के रूप में परिवर्तित हो जाता है। यह आपके मल को कठोर नहीं होने देता, और माल त्यागने में मदद करता है, जो कब्ज से छुटकारा दिलाता है।

शुगर (मधुमेह) को नियंत्रित करने के लिए | control sugar (diabetes) in hindi

चिया बीज मधुमेह मेलेटस के लिए बहुत उपयोगी हैं – ये भूख की भावना को कम करते हैं, रक्तचाप कम करते हैं, कोलेस्ट्रॉल कम करते हैं, इसमें पाई जाने वाली फाइबर कार्बोहाइड्रेट के अवशोषण को धीमा कर देते हैं।

चिया के बीजों का उपयोग मधुमेह में रक्तचाप के स्तर में सुधार के लिए किया जाता है। चिया के पाचन को धीमा करने की क्षमता मधुमेह की रोकथाम में मदद कर सकती है। चिया के बीज में ओमेगा -3 फैटी एसिड के कारण शुगर (मधुमेह) को नियंत्रित करने के लिए फायदेमंद हैं, चिया को रोग के उपचार में पोषण के लिए महत्वपूर्ण माना जाता है।

कैंसर के उपचार में चिया बीज लाभकारी है | Chia seed is beneficial in the treatment of cancer in hindi

चिया के बीजों में ऐसे पदार्थ होते हैं जो कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करते हैं। और क्षतिग्रस्त डीएनए को पुनर्स्थापित (restores) करते हैं। (प्रोस्टेट, स्तन ग्रंथियों और बृहदान्त्र (colon) के कैंसर में प्रभावी देखने को मितले है ) . यह एक प्राकृतिक एंटीबायोटिक और प्राकृतिक एनालॉग का रूप है, जो शरीर की प्रतिरक्षा को बढ़ाने में मदद करता है;

हड्डियों के लिए लाभदायक | Beneficial for bones in hindi

चिया बीज में फॉस्फोरस और कैल्शियम पाया जाता है। चिया के बीज का सेवन से आपके शरीर में कैल्शियम,फॉस्फोरस,मैंगनीज की मात्रा में सुधार होता है। जिससे हमारे शरीर की हड्डियों और दांतों को मजबूत बनाता है।

त्वचा के लिए लाभदायक | Beneficial for the skin in hindi

चिया बीज का सेवन त्वचा के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है । इसमें एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा आपकी त्वचा को स्वस्थ रखती है। और साथ ही इसमें त्वचा कसाव भी पैदा करती है। चिया बीज त्वचा संबंधी कई बीमारियों से रक्षा करने में सक्रिय भूमिका निभा सकता है। इसलिए, स्वस्थ त्वचा पाने के लिए, आप नियमित रूप से इसका सेवन कर सकते हैं।

पाचन तंत्र के लिए | For the digestive system in hindi

चिया बीज के सेवन आपके पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है। जो इसमें पर्याप्त मात्रा में फाइबर पाया जाता है। फाइबर एक ऐसा पोषक तत्व है जो न केवल सक्रिय रूप से पाचन क्रिया को संचालित करता है। बल्कि यह पूरे पाचन तंत्र के कार्य को सक्रिय रूप से कार्य करने के लिए प्रेरित करता है। इसलिए, पाचन समस्याओं दूर रखने के लिए, यह चिया बीज बहुत प्रभावी साबित होगा।

नींद की समस्याओं में मददगार | Helpful in sleeping problems in hindi

सेरोटोनिन और मेलाटोनिन, ये दो हार्मोन नींद के लिए आवश्यक हैं। ये दोनों हार्मोन ट्रिप्टोफैन के कारण होते हैं। ट्रिप्टोफैन शरीर में एक एमिनो एसिड है। चिया बीज में ट्रिप्टोफैन अच्छी मात्रा में पाया जाता है, जिसकी वजह से यह अच्छी नींद और आराम करने में मदद करता है।

चिया बीज के अन्य लाभ | Other benefits of Chia seed in hindi

  • बालों की अच्छी सेहत के लिए यह जरूरी है। चिया बीज में विटामिन बी होता है जो बालों के लिए बहुत जरूरी है। इसका सेवन करने से आपके बालों को विटामिन बी की आपूर्ति मिलेगी। यह बालों को स्वस्थ और घना बनाए रखेगा और साथ ही उन्हें रूसी और झड़ने की समस्याो को दूर करता है ।
  • चिया बीज के सेवन से स्मरण शक्ति बढ़ाने में मदद मिलती है। चिया बीज पौष्टिक खाद्य पदार्थों से भरपूर होता है।
  • शरीर में शक्ति और ऊर्जा के स्तर में वृद्धि.
  • चिया बीज का सेवन करने से शरीर में ओमेगा -3 फैटी एसिड की मात्रा सामान्य रहती है, जिससे दिल स्वस्थ रहता है।

चिया के बीज का उपयोग कैसे करें | How to use Chia seeds in hindi

  • सबसे आम और आसान तरीका है। कि चिया के बीजों को रात भर पानी में भिगो दें, यह शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है।भीगे हुए चिया बीज जेल की तरह हो जाता है, जिसे आप किसी भी ड्रिंक में मिलाकर इस्तिमाल कर सकते हैं। यह आपके कब्ज और पाचन में फायदेमंद होता है।
  • आप दही में चिया बीज मिला सकते हैं और उन्हें नाश्ते के रूप में खा सकते हैं।
  • आप चिया के बीजों को पीसकर पाउडर के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते हैं। पीसने के बाद, आप सलाद ,या  पसंदीदा व्यंजन के साथ खा सकते हैं।
  • चिया बीज को आइसक्रीम के ऊपर दाल के साथ भी खाया जा सकता है।

चिया बीज के नुकसान | Chia Seeds ke Nuksan in Hindi

किसी भी चीज के अच्छे और बुरे प्रभाव होते हैं। इसी तरह, आपको चिया के बीज के कुछ नुकसानों को जानना चाहिए। प्रोस्टेट कैंसर के मरीजों को चिया बीजों का सेवन नहीं करना चाहिए। चिया के बीज में उच्च फाइबर सामग्री के कारण बहुत से लोग पेट की समस्या हो सकती हैं, इसलिए आपको अधिक मात्रा में इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *