शुगर की बीमारी से कैसे छुटकारा पाएं |How to get rid of sugar disease

शुगर की बीमारी से कैसे छुटकारा पाएं

शुगर की बीमारी एक ऐसी बीमारी है जो आपके शरीर में आपके द्वारा खाए जाने वाले भोजन से ऊर्जा का सही तरीके से उपयोग नहीं करने देती है और आपके ब्लड में शर्करा की मात्रा को बढ़ाती है जो शरीर के विभिन्न हिस्सों में जमा हो कर उनकी कार्य क्षमता को कम करती है।

शुगर की बीमारी मेटाबोलिक रोगों का एक समूह है जिसमें किसी व्यक्ति के रक्त में ग्लूकोज (रक्त शर्करा) का स्तर सामान्य से अधिक हो जाता है। यह तब होता है जब शरीर में इंसुलिन ठीक से नहीं बनाता है। जिन रोगियों में सामान्य रक्त शर्करा से अधिक होता है। वे मधुमेह रोग से ग्रस्त होते है।

मधुमेह के लक्षण

  • जरुरत से अधिक पेशाब का आना।
  • बहुत प्यास लगना।
  • बहुत भूख लगना , भले ही आप खाना खा चुके हो।
  • अत्यधिक थकान।
  • धुंधली नज़र।
  • चोट या घाव को ठीक होने में बहुत समय लगना
  • वजन कम होना  – भले ही आप अधिक खा रहे हों (टाइप 1)
  • झुनझुनी, दर्द, या हाथ / पैर में सुनपन  (टाइप 2)

मधुमेह को केवल नियंत्रित किया जा सकता है, समाप्त नहीं किया जा सकता है। आप नियंत्रित करने के लिए आयुर्वेद या होम्योपैथी का उपयोग कर सकते हैं, लेकिन उनका कितना प्रभाव है, यह कहना मुश्किल है।

डायबिटीज को नजरअंदाज करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। यह शरीर में कई जटिलताओं को बढ़ा सकता है जैसे हृदय रोग या स्ट्रोक, अंधापन या रेटिनोपैथी, गुर्दे की विफलता और पैर की समस्याएं।

एक स्वस्थ जीवन शैली मधुमेह के जोखिम को काफी हद तक कम कर सकती है। स्वस्थ भोजन करें, कड़ी मेहनत करें, वजन नियंत्रण में रखें, टहलें और व्यायाम करें। अपने चिकित्सक से नियमित जांच करवाएं। आयुर्वेद में मधुमेह के रोगियों में चीनी और वसा को नियंत्रण करने के बहुत उपाय हैं।

शुगर की बीमारी से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय

अगर आप अपनी डायबिटीज को नियंत्रण में रखना चाहते हैं, तो आप कम कैलोरी आहार और व्यायाम जैसे कठिन परिश्रम करके मधुमेह के खतरे को कम कर सकते हैं।

मेथी के दाने डायबिटीज के लिए फायदेमंद

मेथी के दाने फाइबर युक्त होते हैं जो आपके पाचन क्रिया को धीमा कर देते हैं, साथ ही शरीर में शर्करा के अवशोषण की दर को कम करने के अलावा, आपके शरीर में इंसुलिन की मात्रा को बढ़ाने में मदद करते हैं। जो ब्लड शुगर लेवल को कण्ट्रोल करने में मदद करता है।

सेवन- 10 ग्राम मेथी दाने को पानी में भिगोए रखने के बाद डायबिटीज़ से प्रभावित लोग सुबह खाली पेट लेने से ,शरीर में ब्लड शुगर के स्तर को कम करने में मदद मिलती है।

जामुन डायबिटीज के लिए फायदेमंद

यदि कोई मधुमेह व्यक्ति जामुन को आहार में शामिल करता है, तो वह अपने रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रण में रख सकता है। जामुन के फल और बीज मधुमेह के लिए फायदेमंद साबित होते हैं। जामुन के बीज में एल्कलॉइड होते हैं, ये रसायन शर्करा को स्टार्च में बदलने से रोकते हैं और इसलिए यह आपके रक्त शर्करा को नियंत्रित करने में फायदेमंद है। इसका रोजाना 1 चम्मच की मात्रा में जामुन के बीज पाउडर सुबह खाली पेट गुनगुना पानी के साथ सेवन करें.

आंवला भी है लाभकारी

आंवले में क्रोमियम तत्व होते हैं जो इंसुलिन हार्मोन को मजबूत करके रक्त में शर्करा के स्तर को नियंत्रित करते हैं। साथ ही इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करते हैं जिससे डायबिटीज नियंत्रण में रहती है। आंवला डायबिटीज रोगियों के कोलेस्ट्रॉल स्तर को भी कण्ट्रोल में रखता है, जिससे उन्हें मधुमेह संबंधी कोलेस्ट्रॉल की समस्या नहीं होती है। आंवले में पॉलीफेनॉल्स पाए जाते हैं, जो हाई ब्लड शुगर को नियंत्रित करता है।

सेवन – आंवले का सेवन करने का सबसे उचित तरीका है इसे ताजा खाएं। आप आंवला जूस भी पी सकते हैं। आप हर दिन लगभग 5-10 मिलीलीटर आंवले का रस पी सकते हैं।

आयुर्वेद के अनुसार, आंवले का उपयोग दूध के साथ नहीं किया जाना चाहिए। आंवला और दूध पीने के बीच कम से कम आधे घंटे का अंतर रखें।

करेला भी है लाभकारी

करेला कई बीमारियों को ठीक करता है। यह करेले की ब्लड शुगर के इलाज में बहुत मदद करता है। रोज सुबह खाली पेट करेले का जूस पीने से शुगर नहीं होती है। इसके अलावा, करेले को अपने खाने में शामिल करें।

दालचीनी

ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करने में दालचीनी बहुत प्रभावी साबित होती है। हर दिन 1 कप गुनगुने पानी में 1 चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर लेने से ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में बहुत मदद करता है।

ग्रीन टी डायबिटीज को नियंत्रित करने में फायदेमंद है!

 ग्रीन टी में भरपूर मात्रा में पॉलीफेनोल्स होते हैं। पॉलीफेनॉल्स वास्तव में एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी होते हैं, जो मधुमेह के रोगियों में हृदय रोगों के जोखिम को कम करने में सहायक है।

जो लोग मधुमेह से जूझ रहे हैं उनके लिए ग्रीन टी बहुत बढ़िया है क्योंकि डायबिटीज़ मेटाबॉलिक सिस्टम को बेहतर बनाता है।

8 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.