Home » all posts » शतावरी के फायदे और नुकसान | shatavari benefits and side effects in hindi

शतावरी के फायदे और नुकसान | shatavari benefits and side effects in hindi

शतावरी क्या है | What is shatavari in Hindi

शतावरी का वानस्पतिक नाम Asparagus racemosus है. शतावरी को जीवन शक्ति में सुधार करने के लिए एक सामान्य स्वास्थ्य टॉनिक माना जाता है। अपने गुणों के कारण इससे आयुर्वेद में इसे ‘औषधियों की रानी’ माना जाता है।यौन इच्छा को बढ़ाने के लिए शतावरी को एक प्राकृतिक औषधि के रूप में जाना जाता है।यह एक एडाप्टोजेनिक जड़ी बूटी भी है। एडाप्टोजेनिक जड़ी बूटियों को आपके शरीर को शारीरिक और भावनात्मक तनाव से निपटने में मदद करता है।
शतावरी (Asparagus racemosus) एक जड़ी बूटी है। शतावरी नेपाल, श्रीलंका, भारत और हिमालय में पाई जाती है। इसका पौधा एक मीटर से दो मीटर तक लंबी कई शाखाओं के साथ एक चमकदार बेल के समान होता है। इसकी जड़ गुच्छों में होती है। जिसे आयुर्वेदिक और हर्बल मेडिसिन में अनगिनत बिमारियों और रोगों के उपचार में उपयोग किया जाता है| यदि आप शतावरी के पौधे को मिटटी से बहार निकलें तो उसकी 100 जडें होंगी और इसी कारण इस पौधे को शतावरी यानि सौ वारों वाला कहा जाता है | शतावरी के फायदे बहुत से हैं और नुकसान बहुत ही कम .

 

शतावरी के फायदे | shatavari benefits in Hindi

शतावरी को महिला टॉनिक के रूप में माना जाता है और यह महिलाओं की सभी समस्याओं को ठीक करने के लिए सबसे अच्छी आयुर्वेदिक औषधि है।

जैसे मासिक धर्म चक्र को विनियमित (regulating) करना और मूत्र पथ के संक्रमण से संबंधित सभी समस्याएं जो UTI (urinary tract infection) हैं।

शतावरी का उपयोग एंटी-एजिंग संपत्ति के लिए किया जाता है। और इस वजह से शतावरी महिलाओं के लिए बहुत उपयोगी है।

अन्य स्वास्थ्य लाभों के बारे में अधिक जानने के लिए इसे पढ़ते रहें।

शतावरी में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं | antioxidant properties

एंटीऑक्सिडेंट शरीर की कोशिकाओं को खराब होने से बचाते हैं, इस प्रकार हम कैंसर, उम्र बढ़ने और अन्य बीमारियों से बचाते हैं। ये शरीर की संरचना की रक्षा के लिए एक सुपर हीरो की तरह काम करते हैं।

महिलाओं की सभी समस्याओं में लाभकारी | Beneficial in all the problems of women

शतावरी एक महिला हेल्थ टॉनिक के रूप में कार्य करता है, जो मासिक धर्मचक्र (menstrual cycle) को संतुलित करता है

शतावरी मेनोपॉज़ (तब होता है, जब महिलाओं की ओवरी या अंडाशय में एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरोन नाम के हॉर्मोन बनने बंद हो जाते हैं) के समय मीनोपॉज (menopause) की परेशानियों से बचने के लिए बहुत ही ज़्यादा प्रभावशाली है .

शतावरी उन औरतों के लिए भी useful है जिन्हे miscarriage गर्भपात की परेशानी रहती है।

जिनका बार बार गर्भपात हो जाता है। शतावरी औरतों में बांझपन (infertility) की problem को दूर करता है।

शतावरी औरतों के लिए बहुत ही ज़्यादा useful है। लिकोरिया की समस्या में भी बहुत फायदेमंद होती है।और इसलिए शतावरी को औषधियों की रानी है। 

शतावरी estrogen हार्मोन की quantity बढा देता है जिससे महिलाओं प्रजनन तंत्र (female reproductive system) बहुत प्रभावी रूप से (effectively) और कुशलता पूर्वक (efficiently) काम करने लगता ह। 

शतावर menstruation cycle को याने periods को regular करता ह। और शतावरी अनियमित पीरियड्स , painful periods,ज़्यादा ब्लीडिंग

(excessive bleeding) में बहुत ही ज़्यादा useful है। (Himalaya Wellness Pure Herbs Shatavari Women’s Wellness)

अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा | boost your immune system

 शतावरी में एंटीऑक्सिडेंट होते हैं। इसलिए शतावरी का उपयोग आयुर्वेद में एक प्रतिरक्षा (immune) बूस्टर के रूप में किया जाता है। और सर्दी , जुकाम की समस्या को ठीक करता है।शतावरी में विटामिन बी होने के कारण यह आपके शरीर को ऊर्जा शक्ति प्रदान करता है जिससे ब्लड शुगर का level सामान्य रहेता है।

ब्लड प्रेशर को कण्ट्रोल | Bloodpressure control

शतावरी में पोटेशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। पोटेशियम हमारी रक्त धमनियों (arteries) को आराम देकर , अधिक मात्रा में नमक को पेशाब के रस्ते शरीर से निकल देता है। जिस कारण शतावरी हाई ब्लड प्रेशर कम करने में लाभकारी है।

अवसाद के इलाज में | treatment ofdepression

शतावरी का उपयोग आयुर्वेद में अवसाद के इलाज के लिए किया जाता है। 2009 में किए गए अध्ययन में पाया गया कि शतावरी में एंटीऑक्सिडेंट की मजबूत एंटीडिप्रेसेंट  (antidepressant ) क्षमताएं होती हैं। यह मस्तिष्क में न्यूरोट्रांसमीटर को भी प्रभावित किया। न्यूरोट्रांसमीटर हमारे पूरे मस्तिष्क में सूचना का संचार करते हैं। कुछ अवसाद से जुड़े हैं।

स्तनपान और गर्भावस्था | Breastfeeding and pregnancy

एक पदार्थ जो स्तन पान के दौरान दूध उत्पादन को बढ़ाता है, उसे गैलेक्टागॉग कहा जाता है, और शतावरी का उपयोग आमतौर पर इस उद्देश्य के लिए किया जाता है।

हड्डियाँ मज़बूत | Bones strong

शतावरी में विटामिन K भरपूर मात्रा में होती है। इसका सेवन करने से हमारे शरीर में विटामिन K पर्याप्त मात्रा में होने के कारण ये हड्डियों में कैल्शियम का अवशोषण (absorbs) अच्छे से करता है जिससे हड्डियों मजबूत होती है। शतावरी में मौजूद आयरन हड्डियों और जोड़ों को मजबूत रखता है।

अनिद्रा के लिए | For insomnia

आयुर्वेद में वर्षो से शतावरी का इस्तिमाल से तनाव को दूर करने और अनिद्रा से राहत दिलाने के लिए किया जा रहा है।

अल्सर | Ulcer

कुछ प्रारंभिक पशु अध्ययनों से संकेत मिलता है कि शतावरी गैस्ट्रिक अल्सर के इलाज में मदद कर सकती है, अल्सर एक प्रकार के घाव होते हैं जो पेट, आहार नाल (alimentary canal) या आँतों की अंदरूनी सतह पर विकसित हैं|

लंबी उम्र के लिए | For long life  – शतावरी में एंटीऑक्सिडेंट, ग्लूटाथियोन होने से बढ़ती उम्र के लिए एक प्राकृतिक दवा है

मूत्र संक्रमण और गुर्दे के लिए | For urinary infections and kidneys

शतावरी मूत्र पथ के संक्रमण, UTI (urinary tract infection) और गुर्दे के लिए बेहद उपयोगी है। यह एक प्राकृतिक मूत्र वर्धक (diuretic) है।अगर आपको बार-बार पेशाब आना या पेशाब में जलन जैसी समस्याओं में लाभ मिलता हैं। इसलिए, शतावरी का सेवन करने से किडनी और UTI दोनों में मदद कर सकते हैं।

अन्य लाभ | Other benefits

  • सिरदर्द, पेट में ऐंठन, भावनात्मक चिड़चिड़ापन (emotional irritability) आदि लक्षणों को कम करता है।
  • प्रजनन क्षमता (Increases fertility) को बढ़ाता है और गर्भावस्था के दौरान गर्भपात को रोकता हैस्तन दूध के प्रवाह को बढ़ाता है
  • पुरुषों और महिलाओं में यौन शक्ति बढ़ाता है
  • अनिद्रा (insomnia) को ठीक करने में मदद करता है
  • मूत्र विकारों (urinary disorders) का इलाज करता है

शतावरी के नुकसान | shatavari side effects in Hindi

अगर इसका सही तरीके से इस्तेमाल न किया जाए तो शतावरी हानि कारक भी हो सकती है।

  • एलर्जी – जिन लोगों को प्याज या लहसुन से एलर्जी है, उन्हें शतावरी से एलर्जी हो सकती है।
  • इसके अधिक सेवन से, कई बार गैस का सामना करना पड़ता है।
  • गुर्दे में पथरी की शिकायत जिनको है, उन्हें भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए।
  • इसका अधिक सेवन करने से, आपको सांस लेने में कठिनाई और सीने में जलन भी हो सकती है।

👉अश्वगंधा के 10 स्वास्थ्य लाभ | 10 Health Benefits Of Ashwagandha

11 thoughts on “शतावरी के फायदे और नुकसान | shatavari benefits and side effects in hindi”

  1. Pingback: पौरूष जीवन कैप्सूल: फायदे , उपयोग और साइड इफेक्ट्स | Paurush Jiwan Capsules Benefits, Uses and Side Effects in Hindi - DesiGyan

  2. Pingback: विमफिक्स टेबलेट के फायदे और उपयोग | Benefits and uses of Vimfix tablet in Hindi - DesiGyan

  3. Pingback: मिस मी टेबलेट क्या होता है: फायदे और उपयोग | What is miss me tablet in hindi - DesiGyan

  4. Pingback: Baidyanath Vita-ex gold plus capsule: फायदे और उपयोग, खुराक - DesiGyan

  5. Pingback: Ovarin Syrup (for female ): फायदे और उपयोग, खुराक, साइड इफेक्ट्स - DesiGyan

  6. Pingback: NAV PAURUSH Capsules (Weight Gain): फायदे और उपयोग, खुराक, साइड इफेक्ट्स - DesiGyan

  7. Pingback: Titan Plus Capsule (for man): फायदे और उपयोग, खुराक, साइड इफेक्ट्स - DesiGyan

  8. Pingback: Sundri Sudha Syrup (For woman): फायदे और उपयोग, खुराक, साइड इफेक्ट्स - DesiGyan

  9. Pingback: Baidyanath Prostaid Tablet: फायदे और उपयोग, खुराक, साइड इफेक्ट्स - DesiGyan

  10. Pingback: Mustang capsule (for Man): फायदे और उपयोग, खुराक, साइड इफेक्ट्स - DesiGyan

  11. Pingback: Mughal Prash (For Man): फायदे और उपयोग, खुराक, साइड इफेक्ट्स - DesiGyan

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *