पुदीने के फायदे और नुकसान। Pudina benefits and side effects in Hindi

पुदीना

पुदीना एक गुणकारी पौधा है। आयुर्वेद में पुदीने का उपयोग औषधि के रूप में किया जाता है। पुदीने का प्रयोग विभिन्न सब्जियों और चटनी बनाने में किया जाता है। पुदीना के अंदर कई पोषक तत्व पाए जाते हैं जैसे ऊर्जा, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, नियासिन, विटामिन ए, विटामिन सी, सोडियम, पोटेशियम, आयरन, मैग्नीशियम और कैल्शियम आदि। जो शरीर को चुस्ती-फुर्ती प्रदान करते हैं। यह हमारे शरीर में पाए जाने वाले हानि कारक जीवाणुओं को भी नष्ट करता है। गरमी के दिनों में पुदीने द्वारा बनाया गया शरबत हमें लू से बचाता है। इसके अलावा इसमें कई रोगों को जड़ से उखाड़ फेंकने की क्षमता है।
पुदीने के फायदे

पुदीने के फायदे | Benefits of mint in Hindi

1.       पुदीने के रस में जरा-सा काला नमक और शक्कर मिलाकर पीने से शरीर को नई ऊर्जा प्राप्त होती है।

2.       पुदीने की पत्तियों को पीसकर घाव तथा चोट आदि पर लगाएं, शीघ्र ही लाभ अनुभव होगा।

3.       पुदीने के रस में जरा-सा पानी मिलाकर लगाने से विभिन्न प्रकार के चर्म रोग दूर हो जाते हैं।

4.       त्वचा की देखभाल: हेल्थ के साथ-साथ खूबसूरती बढ़ाने में भी पुदीने का जवाब नहीं। पुदीने का रस एक बहुत अच्छा स्किन क्लींजर है। यह त्वचा के संक्रमण, पिंपल, खुजली आदि में बहुत कारगर है। इतना ही नहीं अगर किसी कीडे़ के  काटने के बाद भी उस जगह पर पुदीने का इस्तेमाल किया जाए तो आपको तुरंत राहत मिलती है।

5.       रात के समय पुदीना की 2-4 पत्तियाँ चबाकर पानी पीले। पेट के कीड़ो से छुटकारा मिल जाएगा।

6.       पुदीना , लहसुन , नमक और अदरक की चटनी पीसकर भोजन के साथ खाएं। इससे भूख खुलकर लगेगी और अपच की समस्या भी दूर हो जाएगी।

7.       पुदीना ,काला नमक और काली मिर्च का काढ़ा बनाकर पीने से खांसी , जुकाम और बुखार में काफी लाभ मिलता है।

8.       पुदीने की 1-2 पत्तियाँ चबाकर खाने या पुदीने का रस पीने से हिचकियाँ आनी बंद हो जाती है।

9.       एक बड़ी चम्मच दही और आधा चम्मच ओटमील  को एक बड़े चम्मच पीसी हुई पुदीने की पत्तियों के साथ मिलकर , इससे चेहरे पर 10 मिनट लगाकर ताजे पानी के साथ धो ले। ऑइली स्किन की समस्या दूर हो जाएगी।

10.   पानी में पुदीना का रस और नमक को मिला कर गर्म करे, इसके द्वारा गरारे या कुल्ला करने से आवाज साफ और मुँह की गंध में आराम मिलता है।

11.   सलाद के रूप में पुदीने की पत्तियों का सेवन करने से हड्डियाँ मजबूत होती है।  और कोलेस्ट्रॉल कम होता है।

12.   बिच्छू या मधुमक्खी के काटने वाले स्थान पर पुदीने का रस लगाने से जहर निकलता है और दर्द भी शांत होता है।

13.   पुदीने की पत्तियों को पीसकर शहद में मिलाकर दिन में तीन बार चाटने से दस्त में आराम मिलता है।

14.   तलवों में गर्मी के कारण आग पड़ने पर पुदीने का रस लगाने से लाभ होता है।

15.   अस्थमा के रोगी के लिए पुदीने का नियमित उपयोग बहुत फायदेमंद होता है। यह रक्त को जमने नहीं देता है।

पुदीने के नुकसान | Mint side effects in Hindi

Low शुगर की समस्या वाले लोगो को पुदीने का सेवन नहीं करना चाहिए। पुदीने ब्लड में मौजूद शुगर लेवल को कम करता है।

अधिक मात्रा में पुदीना लेने से यह गुर्दे की विफलता का कारण बन सकता है।

👉नीम के फ़ायदे और नुकसान | Benefits Of Neem And Side Effects In Hindi

👉खीरे के फायदे और नुकसान | Cucumber Benefits And Side Effects In Hindi

👉पालक खाने के फायदे और नुकसान | Health Benefits Of Spinach

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *