दालचीनी के फायदे और नुकसान | Cinnamon benefits and side effects in Hindi

दालचीनी एक सदा बहार पौधा और जो छोटा झाड़ीदार होता है। इसके तने की छाल को सुखाया जाता है। इनका आकार गोलाकार, और भूरा लाल रंग का होता है। दालचीनी का पेड़ हमेशा सुगंध लाता है। इसका उपयोग मसाले और आयुर्वेद में औषधि के रूप में किया जाता है। इसका तेल भी निकलता है। दालचीनी के पेड़ के पत्तों को भोजन में मसाले के रूप में इस्तिमाल किया जाता है। दालचीनी की तासीर गर्म होती है, दालचीनी के पत्तों को तेजपत्ता भी कहा जाता है।

दालचीनी को रंग, सुगंध, और स्वाद के आधार पर विभाजित किया जाता है। दालचीनी सामान्य तौर पर चार प्रकार की होती है,

1.       सीलोन दालचीनी या मैक्सिकन दालचीनी (Cinnamomum Zeylanicum)

2.       इंडोनेशियन दालचीनी (Cinnamomum Burmanni)

3.       वियतनामिज दालचीनी (Cinnamomum Loureiroi)

4.       कैसिया दालचीनी या चाइनीज दालचीनी(Cinnamomum Aromaticum)

दालचीनी के फायदे | Benefits of cinnamon in Hindi

 
दालचीनी के फायदे और नुकसान

 

मधुमेह के लिए | For diabetes – टाइप-2 मधुमेह वाले लोगों के लिए, दालचीनी किसी वरदान से कम नहीं है। इसमें एंटी डायबिटिक गुण पाए जाते हैं। दालचीनी टाइप -2 डायबिटीज पर positive effect  डालती है। यह शरीर की इंसुलिन की प्रतिक्रिया को बढ़ाकर ब्लड शुगर के स्तर को सामान्य रखती है। प्रति दिन दालचीनी के डेढ़ चम्मच लेने से टाइप 2 मधुमेह के रोगियों में ब्लड शुगर का लेवल कम होता है।

हृदय स्वास्थ्य के लिए  | For Heart health दालचीनी के विभिन्न anti-inflammatory गुणों के कारण, यह हृदय और उससे सम्बंधित नुकसान और infection से बचाने में बहुत फायदेमंद है। इसके anti-inflammatory गुण के कारण हमारे शरीर की सूजन को ठीक करके दिल के दौरे यादिल की अन्य बीमारियों के खतरे को कम करती है।

हमारे द्वारा अधिक मात्रा में फैटी खाद्य पदार्थो का इस्तिमाल करने से , हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल और फैट का लेवल बड़ जाता है। जिसकी कारण शरीर में विषैले पदार्थो का निर्माण होता है। जिससे दिल की बीमारियों का खतरा बाद जाता है। दालचीनी के सेवन करने से दालचीनी शरीर से खराब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करता है और अच्छे कोलेस्ट्रॉल को शरीर में बनाए रखने में मदद करता है।

रक्त वाहिकाओं की दीवारों को मजबूत करता है, रक्त संरचना में सुधार करता है, हृदय के काम को सामान्य करता है।

कैंसर के लिए | For cancer – शोधों से पता चला है दालचीनी कैंसर कोशिकाओं की वृद्धि को कम कर सकती है और इसे फैलने से रोक सकती है। दालचीनी इसमें कीमो प्रेंटिव गुण होते हैं कीमोप्रेंटिव एजेंट वे रसायन या पदार्थ होते हैं जिनके कैंसर रोधी गुणों होती है दालचीनी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट, एंटीइंफ्लेमेटरी, एपोप्टोसिसउत्प्रेरण (apoptosis-inducing ) इसमें कैंसर कोशिकाओं को स्वयं ख़त्म करने वाली  गतिविधि/activity होती है , एंटीप्रोलेफेरेटिव(anti-proliferation) यह कैंसर कोशिकाओं को बढ़ने से रोकने है। ये कीमोप्रेंटिव एजेंट(Chemopreventive agents) के रूप में कार्य करती है। इसमें कैंसर, ट्यूमर के विकास को रोकने और डीएनए को नुकसान से बचाने की क्षमता है।

नोट :- दालचीनी किसी भी तरह से कैंसर का इलाज नहीं है। यदि कोई इस बीमारी से पीड़ित है, तो उसे जल्द से जल्द चिकित्सा से परामर्श करना चाहिए.

रक्त परिसंचरण लिए | For blood circulationदालचीनी में Coumarin नामक यौगिक होता है जो खूनको पतला कर रक्त परिसंचरण (circulation) को बढ़ाता है। दालचीनी में मौजूत यह गुण धमनियों (arterial) से जुडे बीमारियों और दिल के दौरे से भी बचाता है.

शरीर में ब्लड फ्लो को बढ़ाने के लिए दालचीनी की चाय को इस्तिमाल करना फायदेमंद माना जाता है। दालचीनी की तासीर गर्म होती है इसके सेवन से शरीर में गर्मी बानी रहती है। यह स्वाभाविक रूप से रक्त परिसंचरण में सुधार करने में फायदेमंद है।

मानसिक रोग | Mental illness दालचीनी मस्तिष्क के लिए बहुत फायदेमंद होती है। दालचीनी में anti-inflammatory  गुण होते है जिससे दिमाग़ के आंतरिक ऊतकों (internal tissues) की सूजन को कम करके ,  न्यूरोलॉजिकल विकारों (neurological disorders) से भी बचाता है और मस्तिष्क को स्वस्थ बनाता है। शहद के साथ एक चुटकी दालचीनी पाउडर लेने से मानसिक तनावदूर होता है और स्मरण शक्ति बढ़ती है। मस्तिष्क की गतिविधि को उत्तेजित करता है, मस्तिष्क में रक्त के प्रवाह में सुधार करता है। दालचीनी के नियमित इस्तेमाल से मौसमी बीमारियां दूर रहती हैं।

कोलेस्ट्रॉल कम करें | Reduce cholesterol – कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि दालचीनी LDL (bad cholesterol) खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने और HDL (good cholesterol) अच्छे कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ाने में मदद कर सकती है। दालचीनी, एक एंजाइम की गतिविधि (activity) को कम करने में सक्षम हो सकता है जो कोलेस्ट्रॉल बनाता है, इस प्रकार रक्त में फैटी एसिड की मात्रा को कम करता है।

मुहांसों के लिए | For acne – दालचीनी मुँहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया को रोक सकती है। इसके लिए दालचीनी के 1 चम्मच के साथ शहद के 3 बड़े चम्मच को मिलाएं। इसे 10 मिनट के लिए अपनी त्वचा पर  लगा ले , फिर इसे ताजे पानी से धो लें, ऐसा करने से आपको बहुत लाभ मिले गा।

वजन करे कम | Lose weight  – शहद और दालचीनी को गर्म पानी के साथ सुबह-शाम सेवन करने से वजन कम होता है। यह आपके शरीर से वसा को धीरे-धीरे कम करता है।

गठिया का दर्द | Arthritis pain – दालचीनी गठिया के दर्द से जुड़े साइटोकिन्स को कम करने में फ़ायदेमंद है। आधा चम्मच दालचीनी पाउडर को एक चम्मच शहद के साथ सुबह और शाम सेवन करने से गठिया के दर्द में बहुत लाभ मिलता है।

श्वसन संक्रमण | Respiratory infection – दालचीनी में Cinnamaldehyde एल्डिहाइड है जो दालचीनी को इसका स्वाद और गंध देता है। सर्दी और फ्लू को ठीक करने या राहत देने में यह दालचीनी बहुत उपयोगी है।और यह सूजन को भी कम कर सकता है। सामान्य सर्दी, खाँसी या lungs की सभी बीमारियों में फायदेमंद है

अन्य फायदे

  • वीर्य बढ़ाने के लिए सुबह और शाम गुनगुने दूध के साथ दालचीनी पाउडर लें।
  • यदि सर्दी के कारण सिर दर्द हो रहा हो तो दालचीनी को पानी के साथ पीसकर सिर पर लेप करें।
  • दालचीनी का उपयोग मुंह की गंध और दंत चिकित्सा में किया जाता है।
  • मुंहासों को कम करने के लिए दालचीनी पाउडर को नींबू के रस में मिला कर लगाएं।
  • अच्छे पाचन के लिए अगर आपकी पाचन क्रिया अच्छी नहीं है तो दालचीनी वाला दूध पीना आपके लिए बहुत फायदेमंद रहेगा।
  • ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल करने के लिए।
  • अच्छी नींद के लिए।
  • खूबसूरत बालों और त्वचा के लिए।
  • मजबूत हड्ड‍ियों के लिए।
  • मेटाबोलिज्म में तेजी लाता है, और विषैले पदार्थों को शरीर को साफ करता है।

दालचीनी के नुकसान | Cinnamon Side Effects in Hindi

दालचीनी खाने के फायदे साथ इसके अधिक सेवन करने से हमारे शरीर को नुकसान भी पहुंचा सकता है।

  •  दालचीनी की अम्लीय प्रकृति के कारण दांत प्रभावित हो सकते हैं,
  •  गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल (पेट) विकार।
  •  कुछ लोगों को दालचीनी से एलर्जी भी हो सकती है।
  •  आपके लीवर को नुकसान पहुंचा सकता है।
  •  ग्लूकोज का स्तर कम हो सकता है,

👉आयुर्वेद क्या है | What Is Ayurveda And Benefits Of Ayurvedic Treatment

👉खीरे के फायदे और नुकसान | Cucumber Benefits And Side Effects In Hindi

1 comment

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *